Jump to content

ASLAM BANDVI

Sign in to follow this  
  • entries
    3
  • comment
    1
  • views
    873

अंधेर नगरी चौपट राजा

khan1978

437 views

#अंधेरनगरी #चौपट #राजा
समझ में नहीं आता कि कहां से शुरू करूं सवाल तो बहुत हैं दिल में लेकिन कुछ बातें ऐसी हैं कि अगर नहीं लिखता तो सच्चाई को छुपाने का आरोप लगेगा और लिखता हूं तो किसी का छुपा हुए राज से दुनिया को अवगत कराने का आरोप लगेगा इस लिए मुझे दोनों बातों का ख्याल रखते हुए लिखना पड़ रहा है
ये बात तो सभी जानते हैं कि गांव में विकाश की क्या हालत है सड़कें 20 साल से वैसी हैं जैसी 20 साल पहले थीं गांव में गरीब भी उतने ही हैं जितने 20 साल पहले थे जो गरीब थे वो आज भी गरीब हैं उन्हें कोई भी सरकारी योजना का लाभ नहीं मिलता सरकारी योजना का लाभ सिर्फ उन्हीं को मिलता है जो या तो किसी विधायक या प्रधान की चमचा गिरी करते हैं या पैसे वाले होते हैं मेरे गांव में आज ऐसे बहुत से परिवार है जिन्हें सरकारी अनाज की सख्त जरूरत है मगर उनका तो राशन कार्ड ही नहीं है और जिन्हें उज्ज्वला योजना के तहत गैस मिलनी चाहिए उन्हें आज तक नहीं मिली और जिन लोगों के पास गाड़ी बंदूक है खेती है saoodi वगैरह में कमाने वाले हैं उनके पास राशन कार्ड भी है और उज्ज्वला योजना के तहत गैस भी मिल गई है यानी गरीबों के हिस्से का अमीर खा रहे हैं मगर  इस बात को बोलने वाला कोई नहीं है बोलेगा भी कौन वैसे भी गरीबों के हक के लिए कौन लड़ता है इंद्रा आवास योजना को ही देखले इस योजना के तहत जितने भी घर बने हैं उसमें से 70% घर उन लोगों को दिए गए हैं जिनके पास पहले से ही 2 2 पक्के घर बने हुए हैं और इन सबका कसूर वार कौन है  इन सब के कसूर वार वहीं हैं जिन्हें। हम चुनते हैं कभी हिन्दू के नाम पर तो कभी मुसलमान के नाम पर क्या कभी हम किसी को विकाश के नाम पर चुने हैं यहां तक कि आज तक किसी ने प्रधान तक से ये सवाल नहीं किया होगा विधायक और संसद से सवाल करने का तो कोई सवाल ही नहीं उठता भूतपूर्व प्रधान राम कुमार ने इंद्रा आवास में उन्हीं लोगों के नाम लिखें हैं जो या तो उसके चमचे थे या फिर उसके साथ में दारू पीने वाले थे और जितने भी आवास पास हुए हैं उनमें से अधिकतर के पास पहले से ही पक्के घर बने हुए हैं और ये बात प्रधान और सचिव पंचायत मित्र सभी जानते हैं लेकिन कोई भी इसे सही करने की कोशिश नहीं करेगा यहां तक कि विधायक जैसे लोग भी सिर्फ हिन्दू मुस्लिम की बात करते हैं इस मामले में बात नहीं करते मैंने आज एक बड़े नेता से फोन पर बात की उनसे कहा कि साहब हमारे गांव में में बालू की 2 खदान चालू हुई हैं जिसकी वजह से हमारा पूरा गांव एक जेल बनकर रहगया गांव के दोनों तरफ से बालू के भरे ट्रक निकालते हैं आप कुछ करिए वर्तमान में आपकी सरकार है अगर आप कुछ कहेंगे तो आपकी अधिकारी और सरकार आपकी मानेगी तो सबसे पहले तो उन्होंने मेरा नाम पूछा तो मैंने अपना नाम संतोष बताया जानते हो उन्होंने क्या जवाब दिया अब उनका जवाब पढ़िए 
उन्होंने कहा कि यार तुम लोग हिन्दू हो कैसे हिन्दू हो अरे यार हिन्दू भाई अपना अगर कमा रहा है। तो इसमें तुम्हें क्या तकलीफ़ है तुम्हें तो खुश होना चाहिए कि कोई हिन्दू  मजबूत हो रहा है सिंधन में एक मुसलमान खदान चला रहा है तुम लोग उसमें नहीं बोलते हथौड़ा के मदरसे में आतंकवादी पढ़ते हैं तुम लोग उसमें नहीं बोलते तुम्हें सिर्फ यही लोग दिखते है अरे भाई जब हिन्दू मजबूत होगा तभी तो मुसलमान कमजोर होगा तो मैंने कहा साहब लेकिन हमारे गांव में खदान चालू हुई हैं उसमें मुसलमानों का कोई नुकसान नहीं है वो तो गांव के बीच में नुकसान तो हमारा हो रहा है एक तरफ ब्राह्मणों की बस्ती है तो दूसरी तरफ केवतों की बस्ती है अगर कोई दुर्घटना होगी तो हमारे साथ ही होगी मुसलमानों के साथ कहां होगी इसमें सबसे ज्यादा तकलीफ़ तो हिन्दुओं को है तो उन्होंने कहा कि भाई में इसमें कुछ नहीं कर्साकत ये हमारे एजेंडे में नहीं है तुमने बीजेपी को वोट दिया है तो मुसलमानों को कमजोर करने के लिए दिया है खदान बंद कराने के लिए नहीं दिया तो मैंने फोन काट दिया और फिर सोचता रहा की क्या वाकई हमारे गांव के हिन्दुओं ने  मुसलमानों को कमजोर। करने के लिए बीजेपी को वोट दिया था ये तो वही लोग बता सकते हैं जिन्होंने बीजेपी को वोट दिया हो मगर ये बात समझ में आगई है कि बीजेपी ने मुसलमानों के नाम पर वोट लिया है उसका मकसद सिर्फ हिन्दू मुस्लिम करना है और कुछ नहीं और यही वो कर भी रहे हैं वरना क्या वजह है कि मैंने इस खदान के लिए प्रधान मंत्री को 3 बार लिख चुका हूं लेकिन कोई कार्रवाई नहीं हुई कार्रवाई होगी क्यों उन्हें तो हिन्दू भाई को मजबूत करना है  सो वो करते हैं उन्हें इससे कोई लेना नहीं है कि जब पूरे गांव को तकलीफ़ होगी तो उसमें सिर्फ मुसलमान हो या हिन्दू सब को तकलीफ़ होगी अब ये बात हमारे गांव के हिंदुवो को सोचना चाहिए कि उन्होंने बीजेपी को वोट देकर कहीं ठग तो नहीं गए 

 



1 Comment


Recommended Comments

Rajesh Kumar Rti Acivitor

Posted

भारत में आज भी गांव के 80% लोग अनपढ़ है उन्हें अपने अधिकार भी नहीं मालूम वो नहीं जानते की भारत सरकार ने उनके लिए कौन सी योजनाएं बनाई है

  • Like 1

Share this comment


Link to comment

Create an account or sign in to comment

You need to be a member in order to leave a comment

Create an account

Sign up for a new account in our community. It's easy!

Register a new account

Sign in

Already have an account? Sign in here.

Sign In Now

Announcements



×

Important Information

By using this site, you agree to our Terms of Use & Privacy Policy