Jump to content
  • 0
ravindralko

फैमिली पेंशन northern रेलवे लखनऊ

Question

ravindralko

सर मृतक आश्रित son ने 2007 में फैमिली पेंशन अप्लाई किया ,म्रतक आश्रित पर नौकरी अगस्त 2009 में लगी।रोजगार की सूचना/जोइनिंग रिपोर्ट दी।सैलरी चाकू हो गई। इसी बीच दिसम्बर 2009 मैं पूर्व की एप्लीकेशन पर कार्यवाही करते हुए फरवरी 2010 में पेंसन/एरियर भी बैंक में भेज दी।excess/रॉंग पेमेंट मार्च 2011 तक हुआ फिर खुद बन्द हो गया।

Unmarried daughter ऑफ deseased employee ने 2011 में अपनी फैमिली पेंशन हेतु प्रार्थना पत्र दिया जो कि बिना काकार्यवाही के पड़ा रहा।3018 मैं Rti व cpgram पर जाने पर अविवाहित पुत्री को पेशन स्वीकृत करते हुए entiteled माना गया।भुगतान हेतु बैंक से ओल्ड ppo रेलवे द्वारा मांगे जाने और 9 साल बाद excess पेमेंट का पता चला।

मृतक आश्रित पर सर्विस पाए व्यक्ति(लडक़ी के बड़े भाई) ने रेलवे से excess पेमेंट जी जानकारी मिलने के तुरंत बाद अपने वेतन से सारी राशि EMI में रिकवरी जर लेने हेतु रेलवे को पत्र लिख। अविवाहित पुत्री सारि रिकबरी एकमुश्त एरियर से करवाने को तैयार है तथा लिखकर दे चुकी है।

रेलवे DPO NR बगैर पूरी राशि 104311 जमा कराए तथा बैंक से NOC लाए भुगतान/पेंशन जारी करने को तैयार नहीं है।

कृपया नियमतः बताइए कि अगर प्रश्नगत ओवर पेमेंट किसी मजबूरी वश सम्बन्धित व्यक्ति न जमा कर पाए तो पेंशन जब्त क्या स्थिति होगी।रिकवरी कैसे होगी।पेंशन कैसे मिलेगी।क्या मामला शून्य मान लिया जाएगा व जस का तस छोड़ दिया जाएगा।धन्यवाद

 

Sent from my vivo 1804 using RTI INDIA mobile app

 

 

Share this post


Link to post
Share on other sites

1 answer to this question

Recommended Posts

  • 0
Prasad GLN

If you can kindly post this in English, you can expect precise guidance.  Try to translate with the help of google translate app which is free.

Share this post


Link to post
Share on other sites

Create an account or sign in to comment

You need to be a member in order to leave a comment

Create an account

Sign up for a new account in our community. It's easy!

Register a new account

Sign in

Already have an account? Sign in here.

Sign In Now

×
×
  • Create New...

Important Information

By using this site, you agree to our Terms of Use & Privacy Policy